नानपुर पुलिस के द्वारा 6 वर्ष से अधिक स्थाई वारंटी मय एक 12 बोर अवैध देसी कट्टे के साथ गिरफ्तार

अलीराजपुर जिले के अंतर्गत नानपुर थाना के स्थाई वारंटी राजू पिता बन सिह बघेल जाति भील उम्र 28 साल निवासी ग्राम अगर उदयपुरा फलिया थाना बाग जिला धार का पिछले 6 वर्ष से थाना नानपुर के अपराध क्रमांक 92/2014 धारा 457 , 380 , 411 , ताहि , मैं फरार था जिसकी गिरफ्तारी सुनिश्चित करने हेतु श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय अलीराजपुर विपुल श्रीवास्तव अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अलीराजपुर बिट्टू सहगल एसडीओपी दिलीप बिलवाल जोबट के निर्देश में टीम गठित की गई उपरोक्त फरार आरोपी की धरपकड़ वह गिरफ्तारी हेतु थाना प्रभारी मोहन सिंह डाबर के नेतृत्व में अधीनस्थ टीम के सदस्य प्र आर 436 सुरेंद्र सिंह , प्र आर पहचानो विक्रम लाखन , आर 312 बलवंत आर 285 मनोज , आर , 74 गजेंद्र , आर , 351 सुनील , आर 298 रमेश निगवाल का गठन किया गया गठित टीम द्वारा पारंपरिक पुलिसिंग कर मुखबिर मामूर किए गए दिनांक 24 ।6 । 2020 को मुखबिर से सूचना होली की आने का स्थाई वारंटी राजू मोरसा रोड नानपुर पर दिखा है सूचना पर तत्काल सक्रियता दिखाकर राजू पिता ब बन सीह बघेल जाति भील उम्र 28 साल निवासी ग्राम आगर उदयपुरा फलिया थाना बाग जिला धार को घेराबंदी कर पकड़ा जिसकी तलाशी लेते समय वारंटी राजू की कमर में रखा एक देसी 12 बोर का कट्टा व जेब से एक जिंदा 12 बोर कारतूस मिला आरोपी को आर्म्स एक्ट की धारा 25 ए , 27 आर्म्स एक्ट में मौके पर गिरफ्तार कर थाना लाकर प्रथक से अपराध क्रमांक 124 । 2020 धारा 25 । ए। 27 दिनांक 24 06 2020 को एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया जिसे दिनांक 25 06 2020 को माननीय न्यायालय अलीराजपुर में पेश किया गया है

केन्द्र शासन द्वारा अनलाक 0.1 के तहत, देशभर मे मंदिर, मस्जीद गुरुद्वारा और चर्च , शासन के दिशा निर्देशो के अनुसार 8 जुन से खोले जा रहे है ।

नानपुर से राजेश राठौड़ की रिपोर्ट✍️

नानपुर। 8 जून को धार्मिक स्थल खोले जाने की तैयारी को देखते हुए थाना परिसर में बैठक रखी गई। शासन ने नई गाइडलाइंस भी जारी कर दी हैं। जिसके मुताबिक, धार्मिक स्थलों में आने वाले श्रद्धालुओं को आम दिनों की ,तरह प्रसाद वितरण और मूर्ति स्पर्श करने की इजाजत नहीं होगी साथ ही इसके साथ ही उन्हें ये भी ध्यान रखना होगा कि कतार बंद होने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दर्शन करना होगा। बगैर मास्क के श्रद्धालु प्रवेश नहीं दिया जावे। एक बार मे केवल 5 श्रद्धालुओं को ही धार्मिक स्थल में अंदर जाने की अनुमति मिलेगी। यह जानकारी स्थानीय थाना प्रभारी मोहन सिंह डावर द्वारा दी गई.। नगर का अतिप्राचीन श्रीराम मंदिर के पुजारी विजय नागर और शंकर मंदिर के पुजारी अखिलेश शर्मा ने कहा है कि केंद्र व राज्य सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक ही मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले जायेंगे। उन्होंने कहा है कि मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए हैंडवाश की पूरी व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही मंदिर में आने वाले भक्तों को लाइन में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाते हूए दर्शन कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि मंदिर में बाहर से लाया गया भोग भगवान को नहीं चढ़ाया जाएगा। केवल मंदिर में तैयार भोग प्रसादी ही चढ़ेगा। साई मंदिर के राजू वर्मा ने कहा कि शासन के निर्देशों का पालन करते हुए एक साथ पांच श्रद्धालु मंदिर में जाएंगे और प्रतिमा को स्पर्श नहीं करेंगे। पुजारी भी मास्क और ग्लब्स का प्रयोग करेंगे और नियमित अंतराल पर हाथों को हैंड वॉस भी करेंगे। मुस्लिम जमात के हाजी चांद मामा और हाजी सिराज पठान ने कहां की सरकार की गाइडलाइन का हम लोग पालन करते हुए शासन के दिशा निर्देशो पालन करेंगे ,।और साथ ही शोसल डिस्टेंसिग के साथ थोड़ी थोड़ी देर में हेड वास करते रहने की सलाह भी दि जायेगी। साथ ही बिना वजह बाजार में ना निकले और घर से जरूरी काम से निकले तो मास्क जरूर लगाएं घर में रहिए सुरक्षित रहिए और 2 गज की दूरी बनाए रखें ।श्री राम मंदिर से पंडित विजय नगर, साईं मंदिर से राजू वर्मा ,निलेश जयसवाल ,कालिका मंदिर से इंद्र प्रकाश शर्मा ,शंकर मंदिर बड़ चौक से पंडित अखिलेश शर्मा,. खेड़ापति हनुमान मंदिर रामू वाणी शंकर मंदिर के बी रोड से गुड्डू सोनी, कैलाश वर्मा और बाबूडा वाणी मस्जिद से हाजी सिराज भाया ,चांद मामा, दाऊदी बोहरा मस्जिद से युसूफ राज मौजूद रहे।

महिलाओं ने वट सावित्री का व्रत कर पूजा अर्चना की। पति की लंबी उम्र एवं घर की सुख शांति के लिए किया जाता है यह व्रत।

नानपुर से राजेश राठौड़ की रिपोर्ट✍️

नानपुर। आज घनश्याम जी माली की बाड़ी में महिलाओं द्वारा आज वट सावित्री का व्रत कर पूजा अर्चना की गई।भारत वर्ष में प्रत्येक माह कोई न कोई व्रत त्योहार मनाया जाता है। उसी में से एक वट सावित्री व्रत अखण्ड सौभाग्य तथा पयार्वरण संरक्षण और सुरक्षा के लिए मनाया जाता है। वट सावित्री व्रत धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सुहाग की कामना को लेकर सुहागिन वटवृक्ष की पूजा करते हुए दिखी। महिलाओं द्वारा आज वट सावित्री का व्रत कर पूजा अर्चना की गई। पति की लंबी आयु एवं घर की सुख शांति के लिए महिलाओं ने बरगद के वृक्ष की पूजा कर परिक्रमा की एवं सुहाग की सामग्री और फल भी भेंट किए इस दौरान वट सावित्री जेष्ठ सुदी पूर्णिमा पर्व को मनाते हुए सुहागिन महिलाओं को पंडित श्रीकांता नागर द्वारा सावित्री और सत्यवान की अमर कथा सुनाई, वहीं सुहागिन महिलाओं ने बरगद के पेड़ की पूजा कर ईश्वर से अपने पति की लंबी आयु की कामना की।